अब ऊंट के खून से होगा थाइराइड कैंसर का इलाज !

राजस्थान के बीकानेर स्थित राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र में हुए शोध से पता चला है कि ऊंट के खून से थाइराइड कैंसर का इलाज किया जा सकता है। दरअसल शोध में ऊंट के खून में ऐसे एंटीबॉडीज पाए गए हैं, जिनसे थाइराइड कैंसर का इलाज किया जा सकता है।

वैज्ञानिकों का दावा है कि ऊंट के खून के एंटीबॉडीज से अन्य तरह के कैंसर का इलाज भी संभव है। साथ ही वैज्ञानिकों का यह भी कहना है कि ऊंट के एंटीबॉडीज से होने वाला उपचार अभी काम में ली जा रही किट के मुकाबले छह गुना तक सस्ता हो सकता है।

dromedary-camel
×

यह शोध उष्ट्र शोध संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और भाभा एटोमिक रिसर्च सेंटर द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। केंद्र के निदेशक डॉ एन वी पाटिल का कहना है कि ऊंट के एंटीबॉडीज इतने छोटे होते हैं कि उन्हें नैनोबॉडीज कहा जाता है और ये मानव शरीर में बहुत गहरे तक जा कर कैंसर का इलाज कर सकते हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि मानव शरीर पर इस्तेमाल करने से पहले इसके कुछ और शोध किए जाएंगे एंटीबॉडीज को दवाइयों के साथ मिला कर दिया जा सकता है। राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र में ऊंट के दूध में भी ऐसे एंटीबॉडीज की खोज की जा चुकी है जो किसी भी तरह की एलर्जी के उपचार में बहुत मददगार साबित हुए हैं।

loading...
loading...