8,000 करोड़ रु के नुकसान से उबर कर मुनाफे की पटरी पर लौटा BSNL

loading...

bsnl

व्यापार जगत: टेलीकॉम मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने रविवार को जानकारी दी कि अब भारत संचार निगम लिमिटेड पुनः पटरी पर लौट आई है और सालों तक घाटों को सहने के बाद मुनाफा कमाने लगी है जो कि एनडीए सरकार के नीतियों के कारण मुमकिन हो सका है।

loading...

फेसबुक पृष्ठ पर जानकारी देते हुए आईटी व टेलीकॉम मंत्री रवि शंकर ने बताया कि वर्ष 2004 में जब तक अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी तब दूरसंचार व इंटरनेट सेवा प्रदाता कंपनी बीएसएनएल 10,000 करोड़ रु के मुनाफे में थी।

इससे आगे उन्होने कहा कि जब 2014 में दस सालों बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार आई तब बीएसएनएल 8,000 करोड़ रु के घाटे में था लेकिन सरकार के मेहनत व नीतियों का ही नतीजा रहा कि आज बीएसएनएल फिर लोगों की पसंद बनता जा रहा है और फलस्वरूप 672 करोड़ रु का परिचालन लाभ कमा चुका है।

एक और जानकारी देते हुए उन्होने बताया कि पहले बीएसएनएल इंडिया जहां 2015 में 7-8 लाख नए ग्राहकों को जोड़ पा रही थी वहीं अब वह 23 लाख नए ग्राहकों तक पहुँच रही है। जाहीर है बड़े पैमाने पर बीएसएनएल में आधुनिकीकरण का काम जारी है और 21,000 टावरों के अलावा और 21000 टावर स्थापित किए जा रहे हैं। अगले दो सालों में बीएसएनएल 40,000 वाईफाई स्पॉट की भी स्थापना करने जा रहा है।

 

फिलहाल, केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद स्वीडन की यात्रा पर हैं जहां स्टॉकहोम में उन्होने एरिक्सन स्टुडियो का दौरा किया और 5जी के प्रोटोटाइप का जायजा लिया। इससे पहले उन्होने स्वीडन स्थित भारतीय आईटी कंपनियों के लोगों संग चर्चा की और प्रधानमंत्री मोदी द्वारा लिए गए डिजिटल इंडिया व आईटी के संदर्भ में फैसलों से उन्हें अवगत करवाया।

loading...
loading...
loading...