bebacbharat@gmail.comClick on the button to contact

बीते 5 साल से खड़ा है यह संन्यासी, पढ़िए, संकल्‍प की पूरी कहानी!

रायपुर में एक संन्यासी पिछले पांच साल से बैठा तक नहीं है। संन्यासी अपने सारे काम खड़े-खड़े होकर करता है। बरेली के मूल निवासी ब्रहृाचारी अशोक गिरी की उम्र 35 साल है। कुंभ में वो पिछले तीन दिन से खड़े होकर ही सारे काम कर रहे हैं। यहां तक कि अगर वो सोते भी हैं तो खड़े होकर, वो भी एक झूले के सहारे।

संन्यासी अशोक गिरी ने बताया कि भगवान की शक्ति के कारण ही वो ऐसा कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 11 साल तक खड़े रहने का संकल्प लिया है। साथ ही यह भी बताया कि उनके पैरों की तीन बार खाल बदल चुकी है। अशोक गिरी ने बताया कि बचपन से ही दिमाग में वैराग्य ऐसा समाया कि कम उम्र में ही घर छोड़ इस राह पर चल पड़ा।

बीते 5 साल से खड़ा है यह संन्यासी, पढ़िए, संकल्‍प की पूरी कहानी

संन्यासी ने बताया कि पहले उन्होंने 41-41 दिन तक खड़े रहकर इसका अभ्यास किया, बाद में अब इसकी आदत पड़ गई। लंबे समय से श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़ा बड़ा हनुमान काशी से जुड़े संन्यासी अशोक गिरी ने बताया कि अपनी सभी दैनिक क्रियाओं सहित रात्रि विश्राम से लेकर नियमित भोजन और अन्य काम को वो खड़े-खड़े करते हैं।

उन्होंने बताया कि कहीं सफर के दौरान ट्रेन और बस में तो सीधे खड़े होते बन जाता है, लेकिन छोटे वाहन में कमर से झुककर सफर तय करना पड़ता है।

loading...