इस देश में रहते हैं केवल तीन लोग!

‘कैलसहारा’ एक ऐसा देश हैं, जहां की आबादी मात्र तीन से 10 लोगों की है। 2009 में पेंसिलवेनिया की 0.2 वर्ग मील की खाली पड़ी जमीन को एक अलग देश घोषित किया गया था। यहां के राजा बने ट्रेविस एम हेनरी। यह कोई महान बात नहीं है। एक व्‍यक्ति की सनक के चलते है यह देश बना है।

गौरतलब है कि दुनियाभर में ऐसे कई सनकी लोग हैं, जिनकी वजह से 400 से भी ज्‍यादा अति सूक्ष्‍म देश बन गए हैं। इन सभी ने आजादी और स्वायत्ता का दावा किया है। हालांकि अभी तक किसी को सरकार ने मान्यता नहीं दी है। फोटोग्रॉफर लिओ डेलाफ्रंटेन ने इन देशों में घूम वहां की जिंदगी की तस्वीर दुनिया के सामने रखी है।

kailsahara

जमीन के छोटे टुकड़े जिन्होंने खुद को अलग राष्ट्र घोषित कर रखा है, लेकिन दुनिया की दूसरी सरकारों ने मान्यता नहीं दी है। दुनिया को चुनौती देने, पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए और कुछ नए मजे के लिए इन देशों को बनाया गया है।

ऐसे ही कुछ अन्‍य अति सूक्ष्‍म राष्‍ट्र

एलीओर – इस राष्‍ट्र की स्‍थापना 1944 में डेनमार्क में हुई। इसका क्षेत्रफल .6 मील वर्ग और जनसंख्‍या 370 है। कुछ स्‍कूल टीचर यहां छात्रों के साथ आए और इसे एक अलग देश घोषित कर दिया। ये सभी अध्‍यापक और छात्र हर साल यहां एक सप्‍ताह के लिए इकट्ठे होते हैं और अपना नेशनल गेम क्रिकेट खेलते हैं।

एटलॉटिअम – यह देश 1981 में बना था। इच्‍छा मृत्‍यु और समलैंगिक विवाह के लिए जागरूकता की मुहिम चलाने के लिए जॉर्ज क्रूकशांक ने इस देश की स्‍थापना की। क्रूकशांक इस देश के राष्‍ट्रपति हैं। ये देश ऑस्‍ट्रेलिया के न्‍यू साउथ वेल्‍स में बससा है। इसका क्षेत्रफल .29 मील और जनसंख्‍या 2000 है।

सेबोरगा – उत्‍तरी-पश्चिमी इटली में 5.4 क्षेत्रफल में बसी इस रियायत की घोषणा 1960 में हुई। यहां की आबादी 350 है। 1079 में रोमन साम्राज्‍य की इस रियायत का कार्यभार पोप संभालते थे। इसे कभी भी अलग राष्‍ट्र का दर्जा नहीं मिला, इससे नाराज होकर यहां के स्‍थानीय फूल वालों ने इसे अलग देश घोषित कर दिया था।

लॉ बोइरे वाणिज्‍य दूतावास – उत्‍तर-पूर्वी फ्रांस में तीन दोस्‍तों फिलिप, पॉसकल और सेबेस्टियन ने 2006 में अपने एक गेस्‍ट हाउस को ही अलग देश घोषित कर दिया। इस गेस्‍ट हाउस में ये लोग पर्यटकों के लिए पार्टियों का आयोजन करते थे। इसका क्षेत्रफल .02 वर्ग मील और आबादी मात्र तीन लोगों की है। तीन साल पहले पॉस्‍कल के निधन के बाद दोस्‍तों का यह कारोबार बंद हो गया।

loading...