पीएम मोदी ने किया जाकिर नाइक का खेल खत्म !

loading...

मुंबई। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने विवादास्पद इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक के मुंबई स्थित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) से जुड़े ठिकानों पर शनिवार को छापेमारी की। एनआईए ने भारतीय दंड संहिता और गैरकानूनी गतिविधियों (रोकथाम) अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत आईआरएफ के खिलाफ एक दिन पहले ही मामला दर्ज कराया था, जिसके बाद शनिवार सुबह यह छापेमारी की गई।

 

loading...

mn73gopm

जाकिर नाइक की संस्था के सामने एक नोटिस भी चिपकाया है

नाइक दुष्प्रचार, सांप्रदायिक वैमनस्य फैलाने, समुदायों के बीच द्वेष बढ़ाने और आतंकवादी गतिविधियों को सहयोग देने के लिए रडार पर हैं। एनआईए की टीम ने मुंबई में आईआरएफ और उससे संबद्ध आठ से 10 स्थानों पर छापेमारी की। नाइक फिलहाल देश से बाहर हैं। वह पिछले कुछ महीनों से यहां नहीं हैं। बांग्लादेश आतंकवादी हमले में आतंकवादियों के नाइक के भाषणों से प्रेरित होने के आरोपों के बाद से आईआरएफ रडार पर है।

खाड़ी देशों से फंड लेने की बात सामने आई

इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को खाड़ी देशों से फंड मिलने की बात सामने आई थी। इसके बाद सरकार ने कुछ दिन पहले चंदे पर रोक लगाई थी। आईआरएफ का हेड ऑफिस मुंबई में है। बांग्लादेश में आतंकी हमले के आरोपियों के जाकिर से प्रेरित होने के खुलासे के बाद संस्था चर्चा में आई।

एनजीओ पर हैं यह आरोप

आईआरएफ पर आरोप हैं उसे विदेशों से मिले चंदे का पॉलिटिकल यूज, धर्मांतरण के लिए प्रेरित करने और आतंकवाद फैलाने के लिए इस्तेमाल किया गया। मुंबई के चार स्टूडेंट्स जब आईएस में शामिल होने गए थे तब भी यह बात सामने आई थी कि वे जाकिर नाइक को फॉलो करते थे। आरोपों में घिरने के बाद होम मिनिस्ट्री ने आईआरएफ को मिलने वाले चंदे के सोर्स का पता लगाने का ऑर्डर दिया था। केंद्र सरकार और महाराष्ट्र सरकार ने जाकिर नाइक की स्पीच की सीडी की जांच के ऑर्डर दिए थे।

कौन हैं जाकिर नाइक

जाकिर का जन्म मुंबई में 18 अक्टूबर 1965 को हुआ था। उसने एमबीबीएस किया है। नाइक एक मुस्लिम धर्मगुरु, राइटर और स्पीकर है। इसके अलावा वो इस्लामिक रिसर्च फांउडेशन या आईआरएस का फाउंडर और प्रेसिडेंट है। यह फाउंडेशन पीस टीवी चैनल भी चलाता है। दावा है कि इसे दुनियाभर में करीब 100 करोड़ लोग देखते हैं। इतना ही नहीं फेसबुक पर नाइक के 1 करोड़ 14 लाख फॉलोअर हैं। नाइक पर यूके, कनाडा, मलेशिया समेत पांच देशों में पहले से ही बैन लगा हुआ है।

loading...