हरियाणा के इस गौ भक्त की कहानी पढकर हर कोई बोलेगा जय गौ माता की !!

रेवाड़ी जिले के गांव धामलावास निवासी बलजीत उर्फ छंगा ने एक मिसाल कायम की है । बलजीत ने 34 सालों तक गाय को मां की तरह अपने घर में रखा. सन 1983 में बलजीत एक छोटी सी बछिया को अपने घर लाया था । बलजीत ने इस बछिया की अपना बच्चा समझ कर सेवा की । बलजीत ने इस बछिया को कभी भी जानवर नहीं समझा । बलजीत के गौ माता के प्रति अनूठे प्रेम की पूरे हरियाणा में चर्चा हो रही है । बलजीत प्यार से इस बछिया को धौली गाय कहकर पुकारते थे ।

04e0eaf4-8fca-48ed-a2bd-cef3bc177741_l_styvpf-gif

बलजीत का कहना है यह गाय हमारे परिवार का अहम हिस्सा थी । केवल बलजीत ही नहीं बल्कि उनके परिवार का हर एक सदस्य गाय को किसी भी तरह का कष्ट नहीं पहुंचा सकता था ।बलजीत ने गाय के रहने व खाने-पीने की अलग व्यावस्था की हुई थी । जितना प्यार परिवार गाय से करता था, उतना ही लगाव गाय को भी बलजीत के घरवालों से था ।गाय अपने दूध से बलजीत के घर के भंडार भरे रखती थी । यह धौली गाय हर रोज 16 लीटर दूध देती थी ।

जबसे यह गाय घर में आई थी बलजीत की बेटी तन्नू गाय के थन में मुंह लगाकर उसका दूध पीती थी । जब धौली गाय घर में आई थी तब तन्नु की उम्र 6 वर्ष की थी और अब तन्नु 15 साल की हो गई है. 21 मई को अचानक धौली गाय ने बलजीत और उसके परिवार का साथ छोड़ दिया । बलजीत ने गौ माता के देह त्यागते ही ठान ली कि वो उसकी प्रतिमा को मंदिर में ही स्थापित कराएगा. अब सही 6 माह के बाद बलजीत ने 41 गांवों के लोगों को भोज भी कराया और मंदिर में गाय की प्रतिमा स्थापित करवा दी ।

rewari-man-baljit-real-devotee-of-cow

loading...