दुनिया की वे ताकतवर मुद्राएं, जिनके सामने डॉलर की भी नहीं चलती

इसे नोटबंदी का असर कहें या फिर डॉलर का बढ़ता दबदबा, भारतीय मुद्रा यानि रुपया पिछले कुछ समय से अपने ढलान पर है. डॉलर के मुकाबले रुपया अभी लगभग 69 रुपयों पर बना हुआ है. डच बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल दिसंबर तक 1 डॉलर के मुकाबले रुपया 70 पार कर जाएगा और 2017 के अंत तक आते-आते रुपये के 72.50 पर पहुंच जाने की संभावना है.

गौरतलब है कि भारत समेत दुनिया भर की मुद्राओं के उतार-चढ़ाव को डॉलर के मुकाबले ही आंका जाता है. साफ़ है कि डॉलर दुनिया की सबसे ताकतवर मुद्रा है. लेकिन जहां तक बात सबसे अधिक मूल्य वाली मुद्रा की है, उसमें डॉलर काफ़ी पीछे है.

स्विस फ्रैंक (67.1 रूपये)

 

अमेरिकी डॉलर (68.1 रूपये)

यूरोपीय संघ यूरो (72.84 रूपये)

ब्रिटिश पाउंड (85. 68 रुपये)

जिब्राल्टर पाउंड (85.65 रुपये)

जॉर्डन दीनार (96.93 रुपये)

लात्विया लात (110.79 रुपये)

 

ओमान रियाल (178.56 रुपये)

बहरीन दीनार (182.34 रुपये)

कुवैत दीनार (225.20 रुपये)

Source: dw.com

loading...