एटीएम और डेबिट कार्ड से ट्रांजेक्‍शन की फीस को लेकर भारी कंफ्यूजन, जाने निवारण !!

loading...

नोटबंदी के बाद सरकार ने एटीएम और डेबिट कार्ड से ट्रांजेक्‍शन को लेकर 31 दिसंबर तक की छूट दी थी। लेकिन, अब आगे क्‍या होगा, इस पर कंफ्यूजन है?  

New Delhi Jan 03 : आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का एलान किया था। इसके बाद कैश की किल्‍लत से जूझ रही जनता को राहत देते हुए सरकार ने एलान किया था कि 31 दिसंबर तक किसी भी एटीएम कार्ड का इस्‍तेमाल दूसरे बैंकों के एटीएम से भी किया जा सकेगा, इस पर कोई भी अतिरिक्‍त चार्ज नहीं देना होगा। इसके साथ ही, सरकार ने डेबिट कार्ड से की जाने वाली पेमेंट पर भी टैक्‍स में छूट का एलान किया था। लेकिन ये सभी छूट 31 दिसंबर तक ही थी। अब नया साल शुरु हो गया है। लेकिन, अब तक इस बारे में सरकार की ओर से स्थिति साफ नहीं की गई कि ये छूट आगे बरकरार रहेगी या फिर लोगों को डेबिट कार्ड से पेमेंट करने पर चार्ज देना होगा। इस हालात में सभी के भीतर कंफ्यूजन बना हुआ है।

हालांकि कुछ बड़े संगठनों और सरकार के सूत्रों का कहना है कि सरकार डेबिट कार्ड से ट्रांजेक्‍शन फीस की छूट को आगे भी जारी रखेगी। लेकिन, अब तक इस संबंध में रिजर्व बैंक आफ इंडिया की ओर से कोई भी निर्देश सामने नहीं आया है और यही वजह है कि आरबीआई की ओर से कोइे दिशा-निर्देश ना होने के कारण बैंकों ने डेबिट कार्ड से होने वाले ट्रांजेक्‍शन चार्ज को वसूलना शुरु कर दिया है। इसके साथ ही प्राइवेट बैंकों ने दूसरे बैंकों के एटीएम के इस्‍तेमाल पर भी चार्ज वसूलना शुरु कर दिया है। हालांकि अभी भी शुरुआत के पांच ट्रांजेक्‍शन पर कोई चार्ज नहीं लगेगा लेकिन, इसके बाद बैंक ट्रांजेक्‍शन चार्ज वसूल सकते हैं। हालांकि बताया जा रहा है कि ये प्राइवेट बैंकों का अपना विशेषाधिकार है।

loading...

 

अमूमन बैंकों का अपने कस्‍टमर्स के साथ चार्ज को लेकर एक अग्रीमेंट होता है। कई ऐसे बैंक हैं जो नोटबंदी से पहले प्रीमियम कस्टमर्स से एटीएम चार्ज नहीं वसूल रहे थे। हालांकि सिर्फ प्राइवेट बैंक ही नहीं बल्कि सरकारी बैंक भी अपने कस्‍टमर्स से एटीएम चार्ज वसूल रहे थे। नोटबंदी से पहले स्‍टेट बैंक आफ इंडिया और पंजाब नेशनल बैंक पांच फ्री ट्रांजेक्‍शन के बाद प्रति ट्रांजेक्‍शन 15 रुपए वसूल रहा था। जबकि कई बैंक छूट के बाद प्रति ट्रांजेक्‍शन 20 रुपए तक वसूल कर रहे थे। लेकिन, अब 31 दिसंबर के बाद सरकारी बैंक क्‍या करेंगे इस बारे में इन लोगों के पास भी कोई जवाब नहीं है क्‍योंकि इनके पास अब तक रिजर्व बैंक आफ इंडिया का कोई आदेश ही नहीं आया है। कस्‍टमर्स भी इसी बात को लेकर परेशान हैं।

साउथ दिल्‍ली के रहने वाले विनायक मिश्रा कहते हैं कि मान लीजिए कि अगर मैं पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम में जाता हूं और वहां पैसा ना हो तो मुझे दूसरे एटीएम का इस्‍तेमाल करना होगा। लेकिन, ऐसे में बैंक एटीएम चार्ज वसूल कर रहे हैं। वहीं, मोतीबाग के रहने वाले अरविंद का कहना है कि मेरे पास क्रेडिट कार्ड नहीं है। नोटबंदी के बाद हम डेबिट कार्ड से ही हर तरह की पेमेंट करते आए हैं। लेकिन, अब इस बात का पता नहीं है कि डेबिट कार्ड के इस्‍तेमाल पर क्‍या बैंक हमसे ट्रांजेक्‍शन चार्ज वसूल करेंगे या नहीं। इस तरह के तमाम लोग हैं, सिर्फ दिल्‍ली ही नहीं बल्कि पूरे देश में हैं, जिनके भीतर एटीएम और डेबिट कार्ड से ट्रांजेक्‍शन को लेकर कंफ्यूजन बना हुआ है। जो दुर्भाग्‍य से अब तक दूर नहीं हो सका है।

loading...