बड़ी न्यूज़ : नीतीश कुमार ने लालू को दिखाई उनकी औकात !! किया कुछ ऐसा ??

पटना में गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात पर आरजेडी भड़की हुई है।

New Delhi Jan 06 : बिहार की राजनीति में एक बार फिर गरमाहट आ गई है। गुरुवार को मोदी और नीतीश के बीच हुई मुलाकात और तारीफ आरजेडी को रास नहीं आ रही है। खासतौर पर लालू प्रसाद यादव को लेकर किया गया बर्ताव आरजेडी नेताओं को और भी खटक रहा है। ऐसे में अब महागठबंधन में एक बार फिर दरार पड़ती नजर आ रही है। दरसअल, गुरुवार को पटना साहिब गुरुद्वारे में गुरु गोविंद सिंह के 350 वें प्रकाश उत्‍सव पर आयोजित भव्‍य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर कई बड़े नेताओं ने शिरकत की थी। इस कार्यक्रम में जहां मंच पर कुछ खास मेहमानों को जगह मिली वहीं बाकी नेता मंच के नीचे नजर आएं। अब बैठने की इसी व्‍यवस्‍था को लेकर सियासत गरमा गई है।

दरअसल, महागठबंधन में असल झगड़ा मोदी और नीतीश कुमार के बीच नजदीकी को लेकर बढ़ता जा रहा है। बिहार सरकार की ओर से पटना साहिब गुरुद्वारे में गुरु गोविंद सिंह के 350 वें प्रकाश उत्‍सव पर भव्‍य कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की थी। वहीं दूसरी ओर नीतीश कुमार ने भी प्रधानमंत्री की खूब तारीफ की थी। इसके बाद भी बिहार में सियासत का नया गुणा गणित शुरु हो गया था। लेकिन, इस कार्यक्रम के दौरान नेताओं के बैठने की कुछ व्‍यवस्‍था भी की गई थी। जिसमें मंच पर सिर्फ चुनिंदा नेता ही मौजूद थे। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा पंजाब के मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल भी मौजूद थे। कुछ और नेताओं को छोड़कर बाकी नीचे ही बैठे थे।

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और आरजेडी अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव भी जमीन पर ही बैठे थे। उनके साथ उनका बेटा तेजस्‍वी यादव भी जमीन ही बैठा था। वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव और पंजाब के उप मुख्‍यमंत्री सुखबीर बादल भी जमीन पर ही बैठे थे। लेकिन, लालू प्रसाद यादव की पार्टी के नेता इस बात पर अब भड़क रहे हैं कि उनके नेता को आखिर मंच पर जगह क्‍यों नहीं दी गई। आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया है कि आखिल लालू प्रसाद यादव को नीचे कैसे रखा गया। अगर महागठबंधन है तो सब लोगों को नहीं रहना चाहिए था। उन्‍होंने नीतीश कुमार को धमकी भरे लहजे में कहा कि बिहार में सिर्फ जेडीयू की सरकार नहीं हैं।

रघुवंश प्रसाद ने कहा कि उन्‍हें महागठबंधन का रुप क्‍यों नहीं दिखता है। उन्‍होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव के साथ जो भी हुआ है ये बात लोगों को बहुत बुरी लगी है। उधर, लालू प्रसाद यादव ने भी मोदी-नीतीश की मुलाकात पर अपने ही अंदाज में उन्‍होंने कहा कि यहां पर छनेगी जलेबी और निकलेगा समोसा। बहरहाल कहा कुछ भी जाए लेकिन, हकीकत ये है कि जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार की नजदीकियां पिछले कुछ दिनों में बढ़ी हैं उससे बिहार के महागठबंधन में शामिल नेताओं को गहरा धक्‍का जरुर लगा है। लालू प्रसाद यादव और उनकी पार्टी आरजेडी को ये बढ़ती नजदीकियां एकदम रास नहीं आ रही हैं। इसलिए अब हर रोज कोई ना कोई नया मुद्दे लेकर निशाना साधा जा रहा है।

loading...